Kids Jokes in Hindi

कुछ बच्चे सड़क पर पटाखे जला रहे थे..
अभी एक पटाखे में चिंगारी लगाई ही थी की सामने से एक आंटी आती दिखी...

सब चिल्लाने लगे...
आंटी पटाखा है....
आंटी पटाखा है...
आंटी पटाखा है...

आंटी मुस्कराई और बोली :
नहीं रे पागलों, अब पहले जैसी बात कहां... gringringrin
आज कल के बच्चे रिफ्रेश होने के लिए वाटर पार्क,
गेम सेंटर जाने की जिद करते हैं..!

वहीं हम ऐसे बच्चे थे, जो मम्मी-पापा के एक झापड़ से ही फ्रेश हो जाते थे..! gringringrin
आजकल के माँ-बाप सुबह स्कूल बस में बच्चे को बिठा के ऐसे बाय-बाय करते हैं,
जैसे पढ़ने नहीं, विदेश यात्रा पर भेज रहें हो...
और,
एक हम थे जो रोज़ लात खा के स्कूल जाते थे... gringringrin
बच्चा : अंकल डेटाल साबुन है क्या..?

दुकानदार (नाक से ऊँगली निकालते हुए) :
हाँ बेटा, है ना...!

बच्चा : तो फिर हाथ धोके क्रीमरोल दे दो.... gringringrin
एक बार एक स्कूल में आग लग गई..
स्कूल की छुट्टी हो गई..
सब बच्चे स्कूल से घर ख़ुशी-ख़ुशी जा रहे थे..

खुश इसलिए की स्कूल में आग लग गई, अब स्कूल नहीं आना पड़ेगा..
लेक़िन एक बच्चा बड़ा दुखी होकर स्कूल से जा रहा था..

टीचर ने उसको देखा उसे अपने पास बुलाया और पूछा बेटा सब बच्चे तो इतने ख़ुश हैं..
लेकिन तुम दुखी क्यों हो..??

लड़का बोला आग से स्कूल ही तो जला है, मास्टर तो सारे बच गये..
कल पार्क में बिठाकर पढ़ाने लगेंगे.. gringringrin
जादूगर - बच्चों, मैं इस रूमाल को जादू से कबूतर बनाकर दिखाऊंगा।
.
.
बच्चा - इसमें कौनसी बड़ी बात है। हमारे टीचर तो हमें बिना किसी जादू के ही रोज मुर्गा बनाते हैं..! gringringrin
एक बच्चा दौड़ा-दौड़ा पुलिस स्टेशन गया और बोला - इंस्पेक्टर साहब,
जल्दी चलिए, एक चोर एक घंटे से मेरे पिताजी को पीट रहा है..!
इंस्पेक्टर बोला - एक घंटे से पीट रहा है तो इतनी देर तक क्या तुम तमाशा देख रहे थे..!
बच्चा - नहीं-नहीं, इससे पहले पिताजी चोर को पीट रहे थे..! gringringrin
एक आदमी अपने दोस्त के घर गया और दरवाजे की घंटी बजाई, जो सुनकर एक बच्चा बाहर आया।

आदमी : बेटा पापा घर पर हैं..?
बच्चा : अंकल.. पापा तो बाजार गए हैं।
आदमी : चलो बड़े भाई को बुला दो..?
बच्चा : जी वो क्रिकेट खेलने गया है।
आदमी : बेटा.. मम्मी तो होंगी घर पर..?
बच्चा : जी वो किटी पार्टी में गई हैं।
आदमी गुस्से में, "तो बेटा तुम घर पर क्यों बैठे हुए हो तुम भी कहीं चले जायो"
बच्चा : जी मैं भी तो अपने दोस्त के घर आया हुआ हूँ। gringringrin
आजकल तो 4-4 साल के बच्चे गाते फिर रहे हैं : 'छोटी ड्रेस में बॉम्ब लगदी मैनु'

जब हम चार साल के थे तो एक ही लाइन याद थी।
वही गाते फिरते थे,

'शक्ति-शक्ति शक्तिमान, शक्ति-शक्ति शक्तिमान-शक्तिमान' gringringrin
बाप अपने 6 साल के बेटे से : सो जा बेटा नहीं तो भूत आ जाएगा।
.
.
.
.
बेटा : आप लोगों को तो बस Romance का बहाना चाहिए,
चाहे बच्चे की फट जाए भूत के नाम से। gringringrin